कैसे बचा धाम....................

मंदिर के अंदर भी मलबा पहुंचा है तो बाहर से सिर्फ मंदिर का गुंबद ही बचा है। मंदिर की बाकी चीजें मलबे में दब गई हैं। तबाही की सुबह कई लोगों ने मंदिर के गर्भगृह में पहुंचकर जान बचाई। कुछ लोग मंदिर के गर्भगृह जाते-जाते मौत के मुंह में समा गए। जो लोग गर्भगृह में समय से नहीं पहुंच सके तो उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। मंदिर के अंदर की ताजा तस्वीरें बताती हैं कि बाहर की तबाही का असर अंदर तक हुआ है।

No comments:

Post a Comment